क्या गिलोय का काढ़ा कोरोना से बचा सकता है?

क्या गिलोय का काढ़ा कोरोना से बचा सकता है?


गिलोय एक ऐसी औषधि है, जो वायरल और बैक्टीरियल बीमारियों को दूर रखता है। कोरोना से बचाव के लिए आप गिलोय का काढ़ा पी सकते हैं। इससे इम्यूनिटी भी मजबूत होगी। जानें, गिलोय का काढ़ा बनाने की रेसिपी...


गिलोय का काढ़ा बनाने का तरीका (Giloy Ka Kadha Ke Fayde)

गिलोय का काढ़ा बनाने के लिए गियोल (Giloy in hindi) का तना लें। उसे अच्छी तरह से कुचल लें। अब एक बर्तन में रखें। इसमें नीम और तुलसी की पत्तियों और गुड़ को भी डाल दें। अब इसमें 3-4 कप पानी डालकर मीडियम आंच पर उबलने दें। इसे तब तक खौलने दें, जब तक यह पानी आधा ना हो जाए। अब इसे छान लें। गर्म नहीं बल्कि गुनगुना इसका सेवन करें। गिलोय का काढ़ा नॉर्मल या सीजनल बुखार में दो दिनो तक पीने से लाभ होता है।


क्या गिलोय का काढ़ा कोरोना से बचा सकता है?

कोरोनावायरस से संक्रमित होने वालों में बुजुर्गों और किसी रोग से पीड़ित लोगों की संख्या अधिक है। ऐसा इसलिए, क्योंकि इनकी इम्यूनिटी कमजोर होती है। ऐसे लोगों में मरने की संख्या भी अधिक है। गिलोय का काढ़ा पीने से आप रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बना सकते हैं। इस तरह आप कोरोना से जल्दी संक्रमित होने से बचे रहेंगे। गिलोय का काढ़ा कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उपयोगी साबित हो सकता है। हालांकि, अभी तक इस बात की कोई पुष्टि या प्रमाणिकता नहीं है कि गिलोय का काढ़ा कोरोना के मरीज को लाभ पहुंचाती है या नहीं।

बरसात के मौसम में कई वायरल बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में अगर इम्यून सिस्टम कमज़ोर होगा, तो लोगों के बीमार पड़ने का डर भी अधिक होगा। जिन लोगों को मॉनसून में बार-बार सर्दी-जुकाम, खांसी और बुखार जैसी परेशानियां होती हैं, उनकी इम्यूनिटी कमजोर हो सकती है। ऐसे लोगों को अपनी रोग-प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने की ज़रूरत होती है। जिसके लिए गिलोय का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है। दरअसल, गिलोय में एंटीऑक्सिडेंट्स की मात्रा बहुत अधिक होती है, जो फ्री-रैडिकल्स से होने वाले डैमेज से शरीर को बचाते हैं। ये इम्यून सेल्स को हेल्दी रखते हैं और इंफेक्शन्स और वायरस समस्याओं से लड़ने में सहायता करते हैं।

Post a Comment

0 Comments