कायस्थ शिरोमणि देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद सदर अस्पताल, बेगुसराय का नाम बदलना साजिशपूर्ण -सिन्हा

कायस्थ रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद सदर अस्पताल बेगुसराय का नाम बदलकर सदर अस्पताल बेगुसराय करने की साजिश को पूर्ण रूप से महान विभूतियों का अपमान करना बताया है 


कायस्थ शिरोमणि देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद सदर अस्पताल, बेगुसराय का नाम बदलना साजिशपूर्ण -सिन्हा
अखिल भारतीय कायस्थ जागृति मंच के राष्ट्रीय सचिव अभिषेक कुमार सिन्हा ने कहा कि कायस्थ रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद सदर अस्पताल बेगुसराय का नाम बदलकर सदर अस्पताल बेगुसराय करने की साजिश को पूर्ण रूप से महान विभूतियों का अपमान करना बताया है, और अस्पताल परिसर से उनकी प्रतिमा को हटाने की भी साजिश उनकी प्रतिष्ठा के साथ खिलवाड़ करना है।
श्री  सिन्हा ने कहा कि 2000 में कायस्थ रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद जी की प्रतिमा की स्थापना अस्पताल परिसर में की गई थी।
उप चिकित्सक अधीक्षक बेगुसराय ने जातिगत द्वेष भावना से ग्रसित होकर पूर्व राष्ट्रपति के नाम के साथ कायस्थ रत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद की भी प्रतिमा को हटाया है, जबकि पूर्व राष्ट्रपति स्वतंत्रा संग्राम सेनानी एवं कायस्थ समाज के आदरणीय डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद जी इसी राज्य से थे।
इसलिए यह और भी दुर्भाग्यपूर्ण है जिसमें उक्त चिकित्सक पदाधिकारी सदर अस्पताल बेगुसराय की संलिप्त भूमिका है। महापुरुषों का अपमान हमारे राष्ट्र का अपमान है और साथ ही साथ समस्त कायस्थ समाज के लोगों का भी अपमान है।
जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा । अगर अस्पताल के नाम को बदलकर पुनः डॉ राजेंद्र प्रसाद के नाम पर नहीं रखा गया तो भारत के कोने-कोने से जितने भी कायस्थ संगठन  एवं चित्रांश परिवार के लोग हैं, वहाँ जाकर आंदोलन करेंगे। 
 श्री सिन्हा ने अपील किया है कि सभी राजनीतिक दल एवं सभी कायस्थ संगठन हमारे इस मुहिम में हमारा सहयोग करें।
अखिल भारतीय कायस्थ जागृति मंच बिहार  राज्य सरकार से निवेदन करती है कि वह जल्द से जल्द इस विषय पर संज्ञान ले और ऐसे महान विभूतियों के नाम के साथ खिलवाड़ करने वाले दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करे ।

Post a Comment

0 Comments