गिरिडीह : टेलीकॉलिग से साइबर ठगी करनेवाला धराया

गिरिडीह : टेलीकॉलिग से साइबर ठगी करनेवाला धराया




गिरिडीह : साइबर अपराध के मामले में अहिल्यापुर पुलिस ने छापामारी कर जोरासीमर नाला के पास से एक साइबर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपित दिलीप मंडल देवघर जिले के मारगोमुंडा थाना क्षेत्र के गगनपुर गांव का रहनेवाला है। पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपित युवक के पास से साइबर अपराध में उपयोग की जाने वाली दो एंड्रायड मोबाइल भी पुलिस ने बरामद की है।
अहिल्यापुर थाने में पदस्थापित पुलिस अवर निरीक्षक डिल्सन बिरुआ के आवेदन पर साइबर थाना में सोमवार को प्राथमिकी दर्ज की गई। इंस्पेक्टर सह साइबर थाना प्रभारी सहदेव प्रसाद ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए मामले की अनुसंधान की जिम्मेवारी स्वयं अपने पास रखी है
अहिल्यापुर पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि जोरासिमर नाला के पास कुछ युवक एकत्रित होकर टेलीकालिग के माध्यम से सीरियल कॉल करते हुए खाताधारकों से निजी जानकारी लेकर साइबर ठगी करने में जुटे हैं। इस गुप्त सूचना की जानकारी वरीय पुलिस पदाधिकारी को दी गई। तत्पश्चात पुलिस पदाधिकारी के निर्देश पर विल्सन बिरुआ के नेतृत्व में एक टीम उस सूचना के आधार पर छापामारी करने जोरासिमर नाला के पास पहुंची। वहां एक युवक नाला के पास झाड़ी में बैठा हुआ था। पुलिस पर नजर पड़ते ही युवक वहां से भागने लगा जिसे खदेड़कर दबोचने में जवान कामयाब रहे। गिरफ्तार युवक से जब पुलिस पूछताछ करने लगी ता उसने बताया कि यहां से कुछ दूरी पर मरगोमुंडा थाना क्षेत्र के गगनपुर में उसका घर है। वह यहां बैठकर टेलीकॉलिग के माध्यम से लोगों को कॉल कर उनके खाते व एटीएम के बारे में गुप्त जानकारी हासिल कर साइबर ठगी करता है। मोबाइल के बारे में पूछताछ करने पर कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सका। इसके बाद मोबाइल की मेन्यू को खंगाला गया तो उसमें सीरियल कॉल करने का प्रमाण मिला। एमआई-पे व एमआई-क्रेडिट एप के अलावा अन्य कई एप पाए गए। दिलीप ने बताया कि लोगों के खातों से टपाए जानेवाली राशि को इस एप के माध्यम से ट्रांसफर करते हैं। साइबर ठगी का काम फर्जी सिम व टेलीकॉलिग के माध्यम से बैंक अधिकारी या किसी कंपनी का कर्मचारी बनकर लोगों को कॉल करते हैं। झांसे में लेकर एटीएम कार्ड का नंबर, सीवीवी, ओटीपी नंबर समेत अन्य जानकारी हासिल कर विभिन्न वॉलेट व बैंक खातों के जरिए पैसों की अवैध तरीके से निकासी कर आपस में बांट लेते हैं। गिरफ्तार आरोपित को साइबर पुलिस ने सोमवार को न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष पेश की जहां से न्यायालय के आदेश पर जेल भेज दिया गया। पूर्व में भी वह अहिल्यापुर थाना क्षेत्र से ही साइबर ठगी में जेल जा चुका है। छापेमारी टीम में हवलदार वृंदानंद कुमार, जयशंकर गौंड, भिखारी राणा, रामबिहारी ओझा के अलावा अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे।

Post a Comment

0 Comments