रेडियो का आविष्कार किसने किया और कब?

रेडियो का आविष्कार किसने किया और कब?


 

लेकिन क्या आपको मालूम है वर्तमान समय में भी अपनी अनोखी पहचान बनाए रखने वाले Radio ka avishkar kisne kiya? दूरस्थ स्थानों से रेडियो सम्पर्क स्थापित करने का आविष्कार इटली के विश्व-प्रसिद्ध भौतिकशास्त्री गुगलेल्मो मारकोनी (Guglielmo Marconi) ने दिसंबर, 1895 में किया था


रेडियो का अविष्कार किसने किया था – रेडियो अपने जन्म के लिए दो अन्य खोजों का ऋणी है- टेलीफोन और टेलीग्राफ। ये तीन प्रौद्योगिकियां बहुत निकट से संबंधित हैं। रेडियो की शुरुआत वायरलेस टेलीग्राफी के रूप में हुई। और यह सब रेडियो तरंगों के आविष्कार के साथ शुरू हुआ, जिसमें हवा के माध्यम से भाषण, संगीत, चित्र और अन्य सभी डेटा बाहर भेजने की क्षमता है।

रेडियो का आविष्कार इटली के एक इंजीनियर मार्कोनी ने 12 दिसंबर  1901 को किया था .स्टूडियो में माइक्रोफोन के सामने बोलने से ध्वनि की तरंग माइक्रोफोन के परदे से टकराकर उस पर कंपन उत्पन्न करती है . उसी कंपन के कारण माइक्रोफोन की विद्युत धारा में उतार-चढ़ाव होता है. अब एक विशेष यंत्र के माध्यम से विद्युत की रेडियो तरंगे उत्पन्न की जाती है. यह तरंगे बिना किसी सहारे के तीव्र गति से वायुमंडल में व्याप्त हो जाती है .इसका  वेग 300000  किलोमीटर प्रति सेकंड होता है. सुनने वाले का रेडियो एक विशेष तरंगों को चुन कर उसमें से संदेशवाहक तरंगों को अलग कर देता है .यह तरंगे  प्रसारित हो कर  रेडियो  के लाउडस्पीकर में पहुंचती है.  यह लाउडस्पीकर  वैसी ही ध्वनि जैसी स्टूडियो से चली थी ,पैदा कर देती है.
 निश्चित ही रेडियो का अविष्कार बहुत महत्वपूर्ण सिद्ध हुआ जिससे विश्व की संचार व्यवस्था में एक नया मोड़ ला दिया.
रेडियो ने एफएम (Frequency Modulation) चैनलों के विस्तार के माध्यम से अपनी उपयोगिता बढ़ाई है। लेकिन क्या आपको मालूम है वर्तमान समय में भी अपनी अनोखी पहचान बनाए रखने वाले Radio ka avishkar kisne kiya? दूरस्थ स्थानों से रेडियो सम्पर्क स्थापित करने का आविष्कार इटली के विश्व-प्रसिद्ध भौतिकशास्त्री गुगलेल्मो मारकोनी (Guglielmo Marconi) ने दिसंबर, 1895 में किया था। वास्तव में मारकोनी को बेतार के तार का जन्मदाता कहा जाता है। संचार-क्रांति के क्षेत्र में किए गए इस महत्वपूर्ण खोज के लिए उन्हें सन् 1909 के भौतिकी के नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था।



मारकोनी और रेडियो के आविष्कार की कहानी

इटली में जन्मे मारकोनी बचपन से ही विज्ञान के प्रयोगों में लगे रहते थे। इनका घर बहुत बड़ा था। वे घर के सबसे ऊपर वाले कमरे में अपने प्रयोग करते रहते थे। इनके पिता गुसेप मारकोनी इनके कार्यकलापों से खुश नहीं थे लेकिन इनकी मां का सहयोग सदा ही इनके साथ रहता था। मारकोनी अपने कार्यों में इतने व्यस्त रहते थे कि वे खाना खाने भी कमरे से नीचे नहीं आते थे। इनकी मां इन्हें खाना इनकी प्रयोगशाला में ही देकर आती थी।
मारकोनी की उम्र जब लगभग 20 वर्ष की थी तब उन्हें हाइनरिख़ रूडॉल्फ़ हर्ट्ज़ (Heinrich Hertz) द्वारा खोजी गई रेडियो तरंगों के विषय में जानकारी प्राप्त हुई। उनका विचार था इन तरंगों को संदेश ले जाने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। उस समय संदेशों को तार की सहायता से मोर्स कोड प्रयोग में लोकर भेजा जाता था। मारकोनी ने इसी दिशा में काम आरम्भ किया।
दिसंबर, 1894 में एक रात की बात है कि मारकोनी अपने कमरे से नीचे आए और अपनी सोई हुई मां सिनोरा मारकोनी को जगाया। उन्होंने अपनी मां से प्रयोगशाला वाले कमरे में चलने के लिए आग्रह किया। वे अपनी मां को कुछ महत्वपूर्ण वस्तु दिखाना चाहते थे।
सिनोरा मारकोनी चूंकि नींद में थी इसलिए पहले तो कुछ बड़बड़ाई किन्तु अपने पुत्र के साथ ऊपर कमरे में चली गई।

उस कमरे में पहुंच कर गुग्लिएल्मो ने अपनी मां को एक घंटी दिखाई जो कुछ उपकरणों के बीच लगी हुई थी। वे स्वयं कमरे के दूसरे कोने में गए और वहां जाकर उन्होंने एक मोर्स कुंजी को दबाया। हल्की चिंगारी की आवाज आई और अचानक 30 फुट दूर रखी घंटी बजने लगी।
बिना किसी तार कि सहायता के इतनी दूरी पर रखी घंटी का रेडियो तरंगों से बजना एक बहुत बड़ी उपलब्धि थी।और इसके कारण टेस्ला को रेडियो के आविष्कारक के रूप में स्वीकार किया गया था जब उन्होंने कभी भी काम करने वाले रेडियो का निर्माण नहीं किया था।

ली डेफोरेस्ट अंतरिक्ष टेलीग्राफी, ऑडिशन और ट्रायोड एम्पलीफायर के आविष्कारक थे। 1990 के दशक के प्रारंभ में, रेडियो को और अधिक विकसित करने के लिए विद्युत चुम्बकीय विकिरण के नाजुक और प्रभावी डिटेक्टर की आवश्यकता थी। और ली डेफोरेस्ट ने डिटेक्टर की खोज की। वह ‘रेडियो’ शब्द का प्रयोग करने वाले पहले व्यक्ति थे। उनके काम के परिणामस्वरूप एएम रेडियो की खोज हुई, जिसने विभिन्न रेडियो स्टेशनों को प्रसारित किया, जिन्हें शुरुआती अंतराल ट्रांसमीटरों ने अनुमति नहीं दी तो कैसी लगी आपको हमारी पोस्ट रेडियो का अविष्कार किसने किया ? rad

 

Post a Comment

0 Comments