कहीं व्हाट्सएप जैसी नेटवर्किंग साइट आपकी नींदे तो नहीं चुरा रही है।

कहीं(whatsapp) व्हाट्सएप जैसी नेटवर्किंग साइट आपकी नींदे तो नहीं चुरा रही है।

आज आपको व्हाट्सएप के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताते हैं जो हमारे जीवन पर सीधे तौर पर प्रभाव डाल रही है।
व्हाट्सएप एक सोशल नेटवर्किंग साइट है जिस पर हम सभी अपनों को मैसेज और वीडियो कॉल के द्वारा बातचीत कर सकते हैं। कहीं भी और कहीं से भी।


यूं तो कोई भी सोशल नेटवर्किंग साइट चलाने में बुराई नहीं है पर व्हाट्सएप में हम सर झुका कर घंटों नीचे देखते रहते हैं जिससे हमारी गर्दन में भी कुछ बीमारियां उत्पन्न होती है और कुछ लोगों को गर्दन दुखने की भी शिकायतें हो रही है। कई लोग इतना व्हाट्सएप चला रहे हैं कि लोगों की नींदें ही उड़ रही है और रात रात तक जागने के आदि हो  चुके है,


मोबाइल स्क्रीन से निकलने वाली सफेद रोशनी आंखों के लिए खराब हो रही है। हर समय आप नेटवर्किंग एरिया में रहते हैं जो कि आपके मस्तिष्क में भी धीरे-धीरे दुष्प्रभाव डाल रही है ,

डॉक्टर्स के अनुसार अनुसार घंटों  गर्दन झुकाकर नीचे देखते रहने से हमारे शरीर पर गलत प्रभाव पड़ता है और मोबाइल की से निकलने वाली सफेद रोशनीओं से हमारे आंखों की भी डैमेज होती है और वह भी खराब हो सकती है और नींद ना आना यह भी एक प्रकार की गंभीर समस्या है जो कि लोगों को रातों में जगने पर विवश करती।

Post a Comment

0 Comments