1 glass milk ,जानें दूध पीने के फायदे ,

1 glass milk ,जानें दूध पीने के फायदे ,
पहले इस पर बात करते हैं कि दूध इंसानों के लिए कितना स्वास्थवर्धक है.
ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा (एनएचएस) के अनुसार गाय का दूध और उससे बनी चीजें, जैसे पनीर, दही, मक्खन बड़ी मात्रा में कैल्शियम और प्रोटीन प्रदान करते हैं, जो संतुलित आहार के लिए ज़रूरी हैं.
अमरीका के न्यूट्रिशनिस्ट डोनल्ड हेंसरड बताते हैं कि कैल्शियम और प्रोटीन के अलावा दूध में कई तरह के विटामिन पाए जाते हैं. यह विटामिन ए और डी का बेहतर स्रोत है.
वो समझाते हैं, "आपको यह स्पष्ट करना ज़रूरी है कि गाय का दूध पौष्टिक और स्वास्थ्य के फायदेमंद है लेकिन शायद यह उतना आवश्यक नहीं है जितना वर्षों से बताया गया है."
ब्रिटिश न्यूट्रिशन फाउंडेशन के मुताबिक़, बच्चों और बड़ों को जितनी मात्रा में आयरन, कैल्शियम, विटामिन, ज़िंक और आयोडीन की ज़रूरत होती है, वह उनका खाना पूरा नहीं कर पाता है. और दूध में यह सबकुछ पाया जाता है.
न्यूट्रिशनिस्ट शार्लोट स्टर्लिंग-रीड ने बीबीसी को बताया कि, "प्राकृतिक दूध के अन्य विकल्पों के साथ समस्या यह है कि उनमें पोषक तत्व प्राकृतिक रूप से नहीं होते हैं. इन पोषक तत्वों को कृत्रिम तरीके से डाला जाता है. इसलिए शायद वे आपको उतना फ़ायदा न पहुंचाए जितने की आप उम्मीद कर रहे हैं."



कैलोरी की मात्रा – 103g
Fat की मात्रा – 2.4g
Sodium की मात्रा – 107mg
Potassium की मात्रा – 366mg
Carbs की मात्रा – 12g
Sugar की मात्रा – 13g
Protein की मात्रा  – 8g

एक ग्लास दूध', जानें दूध पीने के फायदे , आपका वजन करता है.
एक गिलास दूध. भारतीय खान-पान से जुड़ी परंपराओं में इसका अपना खास महत्व है. भारत में दूध का मतलब महज ड्रिंक नहीं है. यहां दूध महज एक पेय पदार्थ होने से कहीं ज्यादा है. दर्जन भर हेल्थ बेनिफिट्स (Proven Health Benefits of Milk) से भरपूर दूध को एक पूर्ण आहार या कम्पलीट फूड माना जाता है. बैंगलोर के न्यूट्र‍िशनिश्ट डॉक्टर अंजु सूद के अनुसार "आयरन को छोड़कर दूध में तकरीबन हर जरूरी और अहम न्यूट्रिशन जैसे प्रोटीन, विटामिन ए, बी1, बी2, बी12, डी, कैल्श‍ियम, पोटेशि‍यम और मैग्नेशि‍यम होता है."
फिटनेस प्रे‍मियों और पोषण विशेषज्ञों का पसंदीदा आहार
दूध शरीर के पूरे विकास में अभिन्न भूमिका निभाता है. अच्छी नींद, मजबूत हड्डियों, प्रतिरक्षा प्रणाली, स्वस्थ त्वचा से लेकर दूध के और भी बहुत से लाभ हैं. क्या आप जानते हैं कि रोजाना एक या दो गिलास दूध लेने से आप एक या दो पाउंड तक वजन कम कर सकते हैं. जब प्राकृतिक रूप से और प्रभावी तौर पर वजन कम करने की बात होती है तो पोषक तत्व युक्त यह सुपर ड्रिंक दुनिया भर में फिटनेस प्रे‍मियों और पोषण विशेषज्ञों का पसंदीदा आहार है.
कैसे दूध वजन घटाने में मदद कर सकता है
  • दूध प्रोटीन का एक अच्छा और उत्कृष्ट स्रोत है. और अगर आप फिटनेस के प्रत‍ि सजग रहते हैं तो यकीनन आपको पता होगा क‍ि यह वजन कम करने में भी कितना कारगर होता है. दूध में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है जिन्हें लाइफ के ब‍ि‍ल्डि‍ग ब्लॉक्स कहा जाता है. प्रोटीन हमारे हंगर हारमोंस को रेगुलेट करते हैं. और दूध में प्रोसेन, एल्बिनिन और ग्लोबुलिन जैसे प्रोटीन प्रचूर मात्रा में होते हैं. दूध जल्दी ही पेट को तृप्त करता है और यह भूख हार्मोन घ्रेलनि (ghrelin) के स्तर को कम करते हुए, भूख कम करने वाले हार्मोन जैसे जीएलपी -1, पीवाईवाई और सीसीके के स्तर को बढ़ाता है, जिससे आप खाना खाते हैं.
  • हड्डियों और दांतों के निर्माण के अलावा कैल्शियम वज़न कम करने में भी मदद कर सकता है. कुछ अध्ययनों के अनुसार, कैल्शियम और विटामिन डी (calcium and vitamin D) शरीर को चयापचय को बढ़ाकर कैलोरी जलाने में मदद करती है.
  • कुछ हालिया अध्ययनों से पता चलता है कि दूध में पाए गए संयुग्मित लिनोलेनिक एसिड (conjugated linolenic acid) फेट को बर्न करने में मददगार होते हैं.
  • डीके पब्लिशिंग हाउस द्वारा 'हीलिंग फूड्स' किताब के अनुसार दूध में विटामिन बी 3 (niacin) की मात्रा काफी ज्यादा होती है, जो वजन को बढ़ने से रोकती है और एनर्जी बढ़ाती है.
  • यह तो हम सब जान ही चुके हैं क‍ि प्रोटीन को पचाने में काफी ज्यादा समय लगता है. क्योंक‍ि प्रोटीन संतृप्ति यानि सेट‍िस्फेक्शन की भावना देता है. अगर आपका पेट भरा हुआ होगा तो आप मोटापा बढ़ाने वाले आहार से दूर रहेंगे और संयमति ही खाएंगे.
शाकाहारियों के लिए किसी वरदान से कम
बकरी का दूध, गाय का दूध, भैंस दूध बाजार में सबसे अधिक व्यावसायिक रूप से उपलब्ध दूध विकल्प हैं. आप इससे स्वादि‍ष्ट मिल्क शेक बना सकते हैं. आप चाहें तो दूध को दलिए में मिला सकते हैं यह आपके दल‍िए को और भी हेल्दी बना देगा. कोशिश करें क‍ि आप अपने आहार में कम वसा वाले या स्किम्ड दूध का इस्तेमाल करें. दूध एक आफ्टर वर्कआउड ड्रिंक भी है. दूध शाकाहारियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं. लेकि‍न दूध से ये लाभ उठाने से पहले आपको यह देख लेना चाहि‍ए क‍ि आपको किसी तरह की एलर्जी तो नहीं है. अगर आप लेक्टोस इंटॉलरेंस से परेशान हैं तो आपको बाजार में मौजूद अन्य प्रोटीन स्रोत को चुनना चाहिए.
Dailyhunt

Post a Comment

0 Comments