हाथ धोने का सही तरीका और फायदे – Hand Washing Steps

हाथ धोने का सही तरीका और फायदे  – Hand Washing Steps 

Hand Washing Steps In Hindi क्या आप हाथ धोने के फायदे और हाथ धोने का सही तरीका जानते हैं हाथ की स्वच्छता (hand wash), अनेक प्रकार की बीमारियों और रोगाणुओं को फैलाने से रोकने के लिए अति आवश्यक है। साबुन और साफ पानी से हाथ धोने से कई बीमारियों से बचा जा सकता है। यदि साबुन और पानी उपलब्ध नहीं है, तो अल्कोहल आधारित हैण्ड सैनिटाइजर (Hand Sanitizers) का उपयोग किया जा सकता है।

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र द्वारा खाने से पहले और बाथरूम से आने के बाद प्रत्येक बार कम से कम 20 सेकंड तक हाथ धोने (hand wash) की सिफारिश की जाती है। हाथों पर साबुन रगड़ते समय, हथेलियों के पीछे, अंगुलियों के बीच में और नाखूनों को अच्छी तरह साफ करने का सुझाव दिया जाता हैं।
ज्यादातर लोग गर्म पानी से हाथ धोने के तरीके पर ज्यादा विश्वास करते है। लेकिन यहाँ सवाल यह उत्पन्न होता है कि क्या गर्म पानी, कमरे के तापमान पर रखे पानी या ठंडे पानी में से हाथ धोने के लिए ज्यादा प्रभावी है? यह सत्य है कि गर्मी बैक्टीरिया (bacteria) को खत्म करती है, लेकिन यह तभी संभव है जब पानी का तापमान सामान्य तापमान से अधिक हो। अधिक तापमान हाथ धोने (hand wash) के लिए आरामदायक नहीं हो सकता है। हाथ साफ करने के लिए कि साबुन या सैनिटाइजर (Sanitizer) का उचित मात्रा में उपयोग किया किया जाना चाहिए। आइये हाथ धोने का सही तरीका और इससे होने वाले फायदों को विस्तार से जानते हैं।

हाथ धोने के चरण – Hand Washing Steps In Hindi



  • चरण 1 (steps 1) – हाथों को गर्म या ठंडा पानी से गीला करें और पर्याप्त साबुन का उपयोग करें। हाँथ धोने के लिए जीवाणुरोधी साबुन का उपयोग किया जाना चाहिए।
  • चरण 2 (steps 2) – दोनों हाथों की हथेलियों को एक साथ रगड़ें।
  • चरण 3 (steps 3) – प्रत्येक हाथ के पीछे रगड़ें।
  • चरण 4 (steps 4) – अपनी अंगुलियों को दूर करते हुए उंगलियों के बीच दोनों हाथों को रगड़ें।
  • चरण 5 (steps 5) – अपनी उंगलियों के पीछे और नाखूनों को अच्छी तरह साफ करें।
  • चरण 6 (steps 6) – अपने अंगूठे और अपने कलाई को रगड़ें।
  • चरण 7 (steps 7) – पानी के साथ दोनों हाथों को अच्छी तरह से धोएं।
  • इसके अलावा नल को बंद करने के लिए तौलिया या पेपर का प्रयोग करें।
  • फिर एक साफ तौलिये की मदद से हाथों को अच्छी तरह से सुखाएं।
  • हाथों को सुखाने के बाद एक मॉइस्चराइजिंग लोशन (moisturizing lotion) हाथों पर लगायें।
  • हाथों को ठीक से धोने के लिए लगभग 30 सेकंड का समय लें।

हाथ साफ करने के लिए सेनिटाइजर्स – Hand Sanitizers in Hindi

अल्कोहल आधारित हाथ सेनिटाइजर्स (Hand Sanitizers) साबुन और पानी उपलब्ध न होने पर हैंडवाशिंग के लिए एक अच्छा विकल्प हैं। हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करते समय यह सुनिश्चित करना चाहिए कि इस उत्पाद में कम से कम मात्रा में अर्थात 60 प्रतिशत अल्कोहल वाला हो।

सैनिटाइजर (sanitizer) से हाथ साफ करते समय इसे हथेली पर लेकर हाथों को अच्छी तरह तब तक रगड़ना चाहिए, जब तक वे सूख न जाए। अल्कोहल आधारित हैण्ड सैनिटाइजर (Hand Sanitizers) सही तरीके से उपयोग किए जाने पर यह विभिन्न प्रकार के सूक्ष्म जीवों को नष्ट कर सकते हैं,  अतः हाथ धोने के लिए पर्याप्त सैनिटाइज़र का (Sanitizer) उपयोग करना चाहिए।
रोग नियंत्रण एवं निवारण केंद्र का मानना है कि साबुन और पानी हाथ धोने के लिए हैण्ड सैनिटाइजर (Hand Sanitizers) से अधिक प्रभावी होते है।

हाथ धोने के फायदे – Hand Washing Benefits In Hindi

नियमित तरीके से हाथ धोने (hand wash) की प्रक्रिया को अपनाया जाये, तो इससे व्यक्ति को अनेक प्रकार के स्वास्थ्य सम्बंधित लाभ प्राप्त हो सकते हैं, जो निम्न हैं:
  • जीवाणुओं (bacteria) को फैलाने से रोका जा सकता है तथा उनके संक्रमण पर भी रोक लगाई जा सकती है।
  • बीमारियों से बचा जा सकता है।
  • सर्दी जुखाम जैसी सामान्य बीमारियों को होने से रोका जा सकता है।
  • सामान्य सर्दी से होने वाले, मेनिनजाइटिस (meningitis), ब्रोंकोलाइटिस (bronchiolitis), फ्लू, हेपेटाइटिस ए और अन्य प्रकार की संक्रमक बीमारियों को फैलने से रोका जा सकता है।
  • साबुन और पानी के साथ हाथ धोने से दस्त (Diarrhea) का खतरा 45% तक कम हो सकता है।
  • बच्चों में फ्लू (Flu) या निमोनिया (pneumonia) जैसी बीमारियों को रोका जा सकता है।
  • स्वस्थ रहकर बीमारियों से बचा जा सकता है जिससे आर्थिक लाभ प्राप्त हो सकता है।

Post a Comment

0 Comments