आखिर नेटफ्लिक्स कैसे काम करता हैं? नेटफ्लिक्स से जुड़ी कुछ मजेदार किस्से

जानिए नेटफ्लिक्स से जुड़ी कुछ मजेदार किस्से ! 


सरल और सटीक तौर पर कहूँ तो, नेटफ्लिक्स एक अमेरिकी विडियो स्ट्रीमिंग की सेवा प्रदान करने वाला कंपनी हैं जो की अपने दर्शकों को इंटरनेट के माध्यम से बहुत प्रकार के मनोरंजक विडियो के विकल्पों को देखने का सुविधा प्रदान करता हैं | इसे साल 1997 में रीड हस्टिंग और मार्क रेंडोल्फ  के नाम के दो व्यक्तियों ने बनाया था |
आपको नेटफ्लिक्स (netflix fact’s in hindi) के अंदर कई देशों के फिल्म, टीवी के धारावाहिक और डॉक्यूमेंटरी देखने को मिलेगा | मूल रूप से यह एक तरह का डिजिटल प्लेटफॉर्म हैं, जहां पर एक साथ कई प्रकार के और कई भाषाओं के चीजों को देखने का सुविधा मिलता हैं | आज के समय में नेटफ्लिक्स के अंदर हजारों से ज्यादा धारावाहिक और टीवी शो मौजूद होंगे और नियमित रूप से इसके अंदर और ढेर सारे शो और फिल्मों को डाला जा रहा हैं |
वर्तमान के समय में खुद नेटफ्लिक्स “नेटफ्लिक्स आरिजिनल” टीवी शो और फिल्म बना रहा हैं, परंतु जब नेटफ्लिक्स सबसे पहले अमेरिका में आरंभ हुआ था तब इसके अंदर दूसरे किया प्रकार के फिल्में और टीवी शो मौजूद थे | साल 2007 में नेटफ्लिक्स ने अपने कारोबार को काफी ज्यादा विस्तृत किया और अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म में दर्शकों के स्वाद के अनुसार कई सारे नए फिल्म और शो को डाला | तभी से लेकर आज तक पृथ्वी के अंदर नेत्फ़्लिक्स की मांग काफी ज्यादा बढ़ गई हैं और यह दुनिया का सबसे बड़ा डिजिटल विडियो स्ट्रीमिंग कंपनी बन गई हैं

इससे जुड़ी कुछ मूलभूत बातें :-
नेटफ्लिक्स से जुड़ी (netflix fact’s in hindi) सबसे मूलभूत और महत्वपूर्ण बात यह है की, आप जब भी अपने फोन से नेटफ्लिक्स के विडियो देखते हैं तब आपका मोबाइल नेटफ्लिक्स के खुद के मौलिक सर्वर से कनैक्ट न हो कर आपके आईएसपी के नेटफ्लिक्स ओपन कनैक्ट एपलाएंसेस बॉक्स के साथ कनैक्ट हो जाता हैं| इससे आप बिना किसी असुविधा के अपने नेटफ्लिक्स शो को आराम से देख सकते हैं|
इसके अलावा नेटफ्लिक्स के कार्य-प्रणाली से जुड़ी एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात यह भी है की, प्रति सेकंड एक ओपन कनैक्ट एपलाएंसेस बॉक्स 90 गीगा बाइट (90 GB) प्रति सेकंड के हिसाब से एक साथ 13,000 लोगों को विडियो स्ट्रीमिंग करने में सक्षम हैं | वैसे मेँ आपको यहां और भी बात दूँ की इतने तेजी से विडियो डैटा को यह एचडी रिसोल्यूशन के हिसाब से स्ट्रीम करता हैं | वैसे दुनिया भर में मौजूद ऑनलाइन विडियो स्ट्रीमिंग कंपनीओं के मुक़ाबले नेटफ्लिक्स की विडियो स्ट्रीमिंग क्वालिटी बहुत ही ज्यादा बढ़िया होता हैं |
अपने अच्छे गुणवत्ता वाले सेवा के लिए नेटफ्लिक्स (netflix fact’s in hindi) आज पूरे पृथ्वी में प्रसिद्ध हैं | इसके अलावा वर्तमान के समय में यह करीब-करीब 190 देशों के अंदर अपना सेवा प्रदान कर रहीं हैं | वैसे दोस्तों मेँ आपसे पूछना चाहूँगा की  क्या आपने कभी अपने फोन या लेपटॉप के अंदर नेटफ्लिक्स को चला कर देखा हैं ? क्या आपको नेटफ्लिक्स देखना पसंद हैं? जरूर ही बताइएगा |
खैर चलिए अब लेख में आगे बढ़ते हैं और नेटफ्लिक्स से जुड़ी अद्भुत तथ्यों (netflix fact’s in hindi) को जानते हैं
1. नेटफ्लिक्स को पहले “किबल” कहा जाता था :-
अब मेँ जिस बात के विषय में कहने जा रहा हूँ उस पर आप शायद ही यकीन करें, क्योंकि यह बात ही कुछ ऐसी हैं | तो, सुनिए नेटफ्लिक्स का नाम पहले किबल था | नेटफ्लिक्स के निर्माताओं के पास कंपनी के नाम को लेकर कई सारे विकल्प थे | इन विकल्पों मेँ से डाइरैक्टपिक्स.कॉमरीप्ले.कॉम और लुना.कॉम जैसे नाम प्रमुख थे | परंतु निर्माताओं ने किबल.कॉम का नाम चुना |
हालांकि किबल.कॉम बाद में परिवर्तित करके कंपनी का नाम नेटफ्लिक्स.कॉम रखा गया | वैसे नेटफ्लिक्स से जुड़ी इस बात को बहुत ही कम लोग जानते हैं ! वैसे कॉमेंट करके बताइएगा की क्या आपको नेटफ्लिक्स के इस नाम के बारे में पता था?
2. पहले नेटफ्लिक्स से लोगों के घरों में फोन किया जाता था :-
हर एक सफल कारोबार के पीछे एक सफल विज्ञापन प्रणाली छुपी हुई होती हैं, क्योंकि विज्ञापन के जरिए ही लोग किसी कंपनी के द्वारा दिए जाने वाले सेवाओं के बारे में जान पाते हैं | जब नेटफ्लिक्स हाल ही में शुरू हुआ था, तब इसके ग्राहक बहुत कम थे और उनके नेटफ्लिक्स के सेवाओं को लेकर काफी सारे प्रश्न थे।
वैसे मेँ यहाँ पर साल 1997 के बारे में बात कर रहा हूँ, जब किसके पास भी आज के भांति स्मार्टफोन नहीं थे | तब नेटफ्लिक्स के मैनेजर ग्राहकों के घर में फोन करके उनके प्रश्नों का उत्तर देने के साथ ही साथ नेटफ्लिक्स की नई-नई सुविधाओं के बारे में बताते थे |
एक तरह देखा जाए तो यह एक प्रकार से विज्ञापन करने की तकनीक ही हैं | वाकई में इसके बारे में मैंने कभी सोचा ही नहीं था |
3. दर्शकों के ऊपर वैज्ञानिक तौर पर शोध किया जाता था :-
पूरी दुनिया में मनोरंजन के क्षेत्र में नेटफ्लिक्स (netflix fact’s in hindi) ही एक ऐसी कंपनी हैं जो की अपने दर्शकों के बारे में बहुत ही ज्यादा सोचता हैं | वैसे नेटफ्लिक्स अपने दर्शकों के ऊपर काफी सारे वैज्ञानिक प्रयोग भी करता हैं | जैसे की किसी फिल्म के स्पोइलर” से दर्शकों के मन में उस फिल्म को लेकर क्या भावना बनता हैं, ऐसे ही कई सारे प्रयोग नेटफ्लिक्स के द्वारा समय-समय पर दर्शकों के ऊपर किया जाता रहा हैं |
वैसे मेँ आपको और भी बता दूँ की स्पोइलर के वजह से लोगों के अंदर उस फिल्म को देखने के लिए और भी ज्यादा उत्सुकता बढ़ता हैं, जो की नेटफ्लिक्स के द्वारा किए गए प्रयोग से पता चला हैं |
4. नेटफ्लिक्स की AI इंसानों को वशीभूत करके रखती है:-
यहाँ पर सबसे पहले मेँ आप लोगों को बता दूँ की, AI के बारे में मैंने एक विशेष लेख पहले से ही लिख कर रखा हैं जिसमें मैंने AI से जुड़ी मूलभूत बातों से लेकर कई सारे अज्ञात बातों के बारे में जिक्र किया हैं| तो, AI के बारे में बेहतर जानकारी के लिए आप लोग उस लेख को पढ़ सकते हैं | खैर अब मुद्दे पर आते हैं, मैंने ऊपर शीर्षक पर जिस बात का जिक्र किया हैं उस बात को खुद नेटफ्लिक्स में काम करने वाले लोगों का कहना हैं | तो क्या सच में नेटफ्लिक्स की AI लोगों को नियंत्रित करता हैं? चलिए इसका जवाब आगे जानते हैं |

Post a Comment

0 Comments