तुलसी के पत्ते के रहस्य जिसे आप जानकर हैरान हो जाएंगे।

तुलसी के पत्ते के रहस्य जिसे आप जानकर हैरान हो जाएंगे।

तुलसी श्रीर्महालक्ष्मीर्विद्याविद्या यशस्विनी। धर्म्या धर्मानना देवी देवीदेवमन: प्रिया।। लभते सुतरां भक्तिमन्ते विष्णुपदं लभेत्।
तुलसी एक ऐसी औषधि है, जो कई समस्याओं का हल आसानी से कर देती है और यह हर घर में आसानी से मिल ही जाती है। खांसी−जुकाम से लेकर वजन कम करने के लिए इसका इस्तेमाल करना काफी अच्छा माना जाता है। इसमें एंटी−ऑक्सीडेंट्स व एंटी−इंफलामेटरी प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं। आमतौर पर लोग तुलसी का इस्तेमाल चाय में करते हैं, लेकिन अगर आप सुबह उठकर सिर्फ तुलसी के पानी का भी सेवन करते हैं तो इससे भी आपको काफी लाभ होता है। कहा भी जाता है कि अगर सुबह उठकर पांच−छह तुलसी के पत्तों का सेवन किया जाए तो इससे शरीर डिटॉक्स होता है और मेटाबॉलिज्म बूस्टअप होता है। तो चलिए आज हम आपको तुलसी के पानी से होने वाले लाभ के बारे में बता रहे हैं−

1) श्याम तुलसी,
2) राम तुलसी,
3) श्वेत/विष्णु तुलसी,
4) वन तुलसी,
5) नींबू तुलसी


बारिश के मौसम में रोजाना तुलसी के पांच पत्ते खाने से मौसमी बुखार व जुकाम जैसी समस्याएं दूर रहती है।

तुलसी की कुछ पत्तियों को चबाने से मुंह का संक्रमण दूर हो जाता है। मुंह के छाले दूर होते हैं व दांत भी स्वस्थ रहते हैं।

दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं में रोजाना तुलसी खाने व तुलसी के अर्क को प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनों में रोग दूर हो जाता है।

तुलसी की जड़ का काढ़ा ज्वर (बुखार) नाशक होता है। तुलसी, अदरक और मुलैठी को घोटकर शहद के साथ लेने से सर्दी के बुखार में आराम होता है।

मासिक धर्म के दौरान कमर में दर्द हो रहा हो तो एक चम्मच तुलसी का रस लें। इसके अलावा तुलसी के पत्ते चबाने से भी मासिक धर्म नियमित रहता है।

सिर का भारी होना, पीनस, माथे का दर्द, आधा शीशी, मिरगी, नासिका रोग, कृमि रोग तुलसी से दूर होते हैं।

तुलसी, कफ, वात, विष विकार, श्वांस-खाँसी और दुर्गन्ध नाशक है। पित्त को उत्पन्न करती है तथा कफ और वायु को विशेष रूप से नष्ट करती है।

तुलसी का रस आँखों के दर्द, रात्रि अंधता जो सामान्यतः विटामिन ‘ए‘ की कमी से होता है के लिए अत्यंत लाभदायक है।

आंखों की जलन में तुलसी का अर्क बहुत कारगर साबित होता है। रात में रोजाना श्यामा तुलसी के अर्क को दो बूंद आंखों में डालना चाहिए।

तुलसी गुर्दे को मज़बूत बनाती है। किडनी की पथरी में तुलसी की पत्तियों को उबालकर बनाया गया जूस (तुलसी के अर्क) शहद के साथ नियमित 6 माह सेवन करने से पथरी मूत्र मार्ग से बाहर निकल जाता है।

ब्लड शुगर रेग्युलेट करना 
तुलसी का पानी ब्लड शुगर लेवल को रेग्युलेट करने का काम करता है। प्रतिदिन तुलसी के पानी का सेवन करने से मेटाबॉलिज्म बूस्ट अप होता है। साथ ही यह सुनिश्चित करता है कि रक्त में मौजूद शुगर को ऊर्जा में तब्दील करता है।


पाचन में मददगार
रोजाना तुलसी के पानी का सेवन करने से यह एसिड रिफ्लक्स के साथ−साथ अपच और अन्य पाचन समस्याओं से लड़ता है। यह खतरनाक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करता है। इसके कारण मल त्याग करने में व्यक्ति को किसी तरह की परेशानी नहीं होती।
 
रोके श्वसन संबंधी विकार
तुलसी का पानी सांस से लेकर आम सर्दी और फ्लू से लेकर अस्थमा तक कुछ खास बीमारियों को रोकने में मदद करता है। इसमें इम्युनोमोड्यूलेटरी, एंटीट्यूसिव और एक्सपेक्टोरेंट गुण होते हैं जो विभिन्न श्वसन समस्याओं को दूर रखते हैं। इतना ही नहीं, इसमें मौजूद ऑयल कंजेशन से भी राहत दिलाते हैं।


तनाव रखे दूर
अगर आप तनाव को अपने जीवन से दूर रखना चाहते हैं तो आपको तुलसी के पानी का सेवन जरूर करना चाहिए। दरअसल, तुलसी शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन जिसे तनाव हार्मोन के रूप में भी जाना जाता है, को संतुलित करने में मदद करता है। यह अवसाद और चिंता के विभिन्न लक्षणों को भी कम करता है।


घटाए वजन
आपको शायद पता ना हो, लेकिन तुलसी का पानी वजन कम करने में भी सहायक है। तुलसी पाचन एंजाइमों और रस को उत्तेजित करती है। जब यह पाचन तंत्र बेहतर तरीके से काम करते हैं तो इससे वजन तेजी से कम होने लगता है।
1. पांच प्रकार की तुलसी का अर्क निकालकर इसके मिश्रण का सेवन करने से कई समस्याओं से निजात पाई जा सकती है। एक ग्लास पानी में एक या दो बूंद अर्क मिलाकर इस मिश्रण को 1 लीटर पानी में डालकर रखें और कुछ देर बाद इसका सेवन करें। पीने के पान में इसका प्रयोग कर रोगाणुओं से बचा जा सकता है।


2.पांच तुलसी का यह अर्क सैकड़ों रोगों में लाभदायक सिद्ध होता है। बुखार, फ्लू, स्वाइन फ्लू, डेंगू, सर्दी, खांसी, जुखाम, प्लेग, मलेरिया, जोड़ों का दर्द, मोटापा, ब्लड प्रेशर, शुगर, एलर्जी, पेट में कृमि, हेपेटाइटिस, जलन, मूत्र संबंधी रोग, गठिया, दम, मरोड़, बवासीर, अतिसार, आंख दर्द , खुजली, सिर दर्द, पायरिया, नकसीर, फेफड़ों की सूजन, अल्सर, वीर्य की कमी, हार्ट ब्लॉकेज आदि समस्याओं से एक साथ निजात दिलाने में सक्षम है।
3. यह मिश्रण एक बेहतरीन विष नाशक की तरह कार्य करती है। इसके रोजाना सेवन से शरीर से हानिकारक एवं अवांछित तत्व बाहर निकल जाते हैं और शरीर के आंतरिक अंगों की भी सफाई होती है। श्री तुलसी स्मरण शक्ति को बढ़ाने के लिए बेहद कारगर उपाय है ।

4. इसके सेवन से लाल रक्त कणों में इजाफा होता है और हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ता है। एक बूंद श्री तुलसी का प्रतिदिन सेवन करने से पेट संबंधी बीमारियां धीरे-धीरे समाप्त हो जाती हैं। वहीं गर्भवती महिलाओं में उल्टी की परेशानी होने पर भी यह लाभकारी है।
5. खांसी या जुकाम होने पर इसका प्रयोग शहद के साथ करना फायदेमंद होता है। गले में दर्द, मुंह में छाले, आवाज खराब होने पर या मुंह से दुर्गंध आने की स्थिति में इसकी एक बूंद मात्रा का सेवन भी बेहद कारगर साबित होगा। दांत का दर्द, दांत में कीड़ा लगना, मसूड़ों में खून आने जैसी समस्याओं में इसकी 4 से 5 बूंद पानी में डालकर कुल्ला करें।

6. शरीर की त्वचा जल जाने पर इसका रस लगाना लाभदायक है वहीं किसी विषैले जीव-जंतु के काटने पर इसे लगाने राहत मिलती है और जहर भी उतरता है। इसकी कुछ बूंदें शरीर पर लगाकर सोने से मच्छरों से बचा जा सकता है।
7. कान में दर्द होना या कान बहने जैसी समस्याओं में तुलसी का रस हल्का गुनगुना कर कान में डालने से फायदा होगा। वहीं नाक की समस्या या फोड़े–फुंसियां होने पर इसका गुनगुना रस डालने से लाभ होगा।


8. बालों में किसी भी प्रकार की समस्या जैसे- बाल झड़ना, सफेद होने पर इस रस को तेल में मलाकर लगाना लाभकारी होगा। वहीं जुएं य कीड़े होने पर रस की कुछ
बूंदें नींबू के रस में मिलाकर लगाएं और कुछ घंटों के बाद धो लें। इससे काफी लाभ होगा।
9. त्वचा की हर समस्या का समाधान है इसके पास। नींबू के रस के साथ इसे त्वचा पर लगाने से त्वचा की सफाई होगी और चेहरा दमकने लगेगा। सुबह और शम के वक्त चेहरे पर इसका इस्तेमाल करने पर कील, मुंहासे, दाग-धब्बे और झाइयों से निजात मिलेगी। इसे नारियल तेल के साथ लगाने से सफेद दाग भी ठीक हो जाता है।

10.वजन घटाने के लिए भी तुलसी बेहद काम की चीज है। इसके नियमित सेवन से आपका मोटापा तो कम होगा ही, यह कोलेस्ट्रॉल को कम कर रक्त के थक्के जमने से रोकती है। इससे हार्ट अटैक की संभावना भी कम होती है।



Post a Comment

1 Comments

  1. I am one Itian who are the owner of nowtechspot and your post is very helpful for everyone who seriously interested in it.
    Here is,link of my site:
    https://nowtechspot.blogspot.com

    ReplyDelete
Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)